Man In Middle attack क्या होता है? 2019

By | June 21, 2018

Man In Middle attack kya hota hai? 2019

नमस्कार दोस्तों कोड इन हिंदी के एक नए पोस्ट में आपका स्वागत है इस पोस्ट में मैं आपको बताने वाला हूं कि Man In Middle attack kya hota hai, कैसे काम करता है

और लोग इसका प्रयोग क्यों करते हैं Hacking में ?

और तो और मैं यह भी बताऊंगा कि आप Man In Middle Attack se kaise bach saqte hain

क्या आपको पता है Man In Middle का प्रयोग करके कोई भी आपके द्वारा चलाई गई हर वेबसाइट और उन वेबसाइट पर आपने क्या डाटा डाला कहां पर लॉगिन किया किसको क्या मैसेज किया website से क्या चीज ऑर्डर किया आपने कौन सी डिटेल भरी यह सारी चीजें देख सकता है

और तो और बदल भी सकता है

यानी कि मान लीजिए आप Facebook को खोल रहे हैं और आपकी वेबसाइट पर जो पेज आ रहा है facebook जैसा ही दिख रहा है पर वह Facebook नहीं है क्योंकि बीच में उसके Code को बदल दिया गया है यह सब कैसे किया जाता है क्यों करते हैं यह मैं आपको आगे बताऊंगा!

इन सब चीजों से पहले मैं आपको एक बात बता दूं की CodeInHindi वेबसाइट का एक ऑफिशियल एप्लीकेशन आ चुका है जिसे कि आप play Store से डाउनलोड कर सकते हैं

डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

अब बात करते हैं

मेन इन मिडिल अटैक क्या होता है?

जैसा की Man In Middle यानी कि MITM के नाम से ही पता चलता है इस प्रकार की हैकिंग में दो लोगों के बीच में एक तीसरा व्यक्ति आ जाता है

और उन दोनों के कम्युनिकेशन को बीच में बैठ कर के पढ़ता रहता है इस बात को आप नीचे दिए गए फोटो से समझ सकते हैं

जैसा कि आप देख सकते हैं पहला बंदा दूसरे बंदे से बात कर रहा है

और बीच में एक हैकर उनके daata को पड़ रहा है

इस हैकिंग में अरे ओपन सर्वर का यूज़ किया जाता है जब कभी हम मोबाइल इंटरनेट चला रहे होते हैं तो हम इन चीजों से बचे हुए होते हैं

क्योंकि जो हमारा डाटा है वह हमारे मोबाइल से डायरेक्ट टावर और फिर टावर से कंपनी पर कंपनी से फिर अंडरवॉटर समुद्र के द्वारा उस देश तक जाता है जहां पर हमारी रिक्वेस्ट की गई फाइल किसी सरवर पर Hosted है और फिर वह रिक्वेस्ट वहां से एक फाइल लेकर के आती है और फिर OFC के द्वारा टावर और टावर के द्वारा हमारे मोबाइल में वह फाइल खुलती है

इसलिए मोबाइल इंटरनेट चलाते वक्त Man In Middle अटैक के होने की उम्मीद नहीं होती है क्योंकि डाटा प्रोवाइडर के सिक्योरिटी को ब्रेक करना इतना आसान नहीं होता है

पर क्या आपको पता है मैंने इन मिडिल अटैक को सबसे ज्यादा कहां किया जाता है चलिए मैं आपको बताता हूं

Man In Middle अटैक को सबसे ज्यादा और successfully वाईफाई या फिर आप कह सकते हैं open वाईफाई में किया जाता है

जब कभी भी आपको ओपन वाईफाई मिलता है तो आप उस से कनेक्ट हो करके इंटरनेट चलाने लग जाते हैं पर क्या आपको पता है उसी वक्त उसी वाईफाई से कनेक्ट हुआ हैकर उस वाईफाई से कनेक्टेड लोगों की इन्फॉर्म निकाल सकता है,

सिर्फ इतना ही नहीं उनके मैसेज भी पढ़ सकता है और यह सब वह करता है एक सॉफ्टवेयर की मदद से नाम है Shark wave

अब बात आती है कि Shark wave में ऐसा क्या होता है कि उसकी मदद से आप एक ही वाईफाई में कनेक्ट हुए सारे लोगों का मुफ्त डाटा हैक कर सकते

Shark wave कैसे काम करता है ?

देखिए जब हम किसी भी वेबसाइट को open करते हैं तो वह डाटा हमारे मोबाइल से पैकेट के फॉर्म मैं निकलता है और पैकेट के फॉर्म में आता है

ओपन वाईफाई में उस पैकेट में कोई भी Encryption नहीं होता है और ना ही कोई पासवर्ड लगा होता है ऐसे में वह क्या करता है कि वह उन पैकेट को Copy कर लेता है

और फिर अपनी सॉफ्टवेयर की मदद से डेटा के पैकेट को ओपन करता है

जिसमें कि हमारी सारी इनफार्मेशन दिख जाती है
सिर्फ इतना ही नहीं वह इस इंफॉर्मेशन को बदल भी सकता है!

और मोबाइल या कंप्यूटर को लगेगा कि यह Information राउटर से आ रही है और मोबाइल इसे सही मानकर आपको दिखा देगा!

इसका छोटा सा प्रैक्टिकल आप खुद कर सकते हैं!

उसके लिए आपको सबसे पहले Zanti नाम का एप्लीकेशन डाउनलोड करना है याद रहे इसको करने के लिए आपका मोबाइल रूटेड होना चाहिए

आपको करना क्या है बस किसी भी वाईफाई से कनेक्ट होइए और Zanti के एप्लीकेशन को ओपन करिए

जैसा की आपको फोटो में दिख रहा है मेन इन मिडिल का ऑप्शन होगा उस पर क्लिक कीजिए आप कुछ वाईफाई पर कनेक्टेड सभी लोगों का iP एड्रेस देख सकते हैं

और अगर आप चाहें तू किसी एक IP एड्रेस में रिक्वेस्ट की गई वेबसाइट कोई बदल भी सकते हैं

उम्मीद करता हूं आप इस तरीके का प्रयोग सिर्फ जानकारी के लिए करेंगे
यह तो रही बात की Man In Middle अटैक क्या होता है कैसे काम करता है
अब बात करते हैं कि इनसे बचा कैसे जाएं

Man In Middle अटैक से खुद को कैसे बचाएं?

देखिए साधारण सी बात है अगर आपको कोई ओपन वाईफाई मिलता है कोशिश कीजिए कि ऐसे समय पर वेबसाइट चलाते वक्त आप अपना कोई भी पर्सनल डाटा ना डालें

और अगर आपको अपना कोई पर्सनल डाटा डालना ही पड़ रहा है तू किसी ना किसी VPN यानी कि Virtual Private Network का प्रयोग कीजिए इससे आपका डाटा Encrypted Form में आएगा और जाएगा और आपका डाटा सुरक्षित रहेगा

पढ़ने के लिए धन्यवाद उम्मीद करता हूं आपको पसंद आया होगा

अगर आपको पसंद आया तो आप हमारे एप्लीकेशन को डाउनलोड करके ऐसी और जानकारियां पढ़ सकते हैं अगर आपका कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *